जल्द होगा भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य अभ्यास, हो रही खास तैयारी

भारत-नेपाल सेना का संयुक्त सैन्य अभ्यास (बारहवां सूर्यकिरण) का आयोजन तीन से 16 सितंबर तक नेपाल के सलझंडी स्थित नेपाल आर्मी बैटल स्कूल (एनएबीएस) में किया जाएगा।

भारतीय सेना की पंचशूल ब्रिगेड के अंतर्गत स्थित कुमाऊं स्काउट्स बटालियन का चयन इस बार अभ्यास के लिए किया गया है। युद्धाभ्यास में भारत एवं नेपाल सेना के लगभग 300 जवान भाग लेंगे, जो दोनों देशों में लंबे समय से सक्रिय राष्ट्र विद्रोही ताकतों के खिलाफ कार्रवाई एवं आतंकवाद निरोधक गतिविधियों/अभियानों से प्राप्त अनुभव साझा करेंगे।भारत-नेपाल सेना का संयुक्त सैन्य अभ्यास

भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य अभ्यास

सूर्य किरण अभ्यास, युद्धाभ्यास की एक शृंखला है, जो प्रत्येक वर्ष भारत और नेपाल में आयोजित की जा रही हैं। सूर्य किरण अभ्यास भारत द्वारा अन्य देशों के साथ होने वाले सैन्य अभ्यासों से इसलिए अलग है, क्योंकि इसमें अधिकतम सैन्य बल शामिल होता है।

loading...

कुमाऊं स्काउट्स के कर्नल ललित मोहन मिश्रा ने बताया कि इस अभ्यास का उद्देश्य भारत-नेपाल सेना के मध्य पर्वतीय इलाकों में आतंकवाद निरोधक अभियानों में आपसी तालमेल को और बेहतर करना है। इस अभ्यास में आपदा प्रबंधन के विषय को भी शामिल किया गया है।

उन्होंने कहा कि इस साझा अभ्यास से न केवल आपसी समझ और अनुभव का आदान-प्रदान होगा, वरन यह अभ्यास साझा सैन्य संबंधों को बढ़ाएगा, जो दोनों देशों के मध्य सांस्कृतिक और ऐतिहासिक संबंधों को मजबूत करने में मददगार सिद्ध होगा।

Loading...
loading...